“सर दर्द के घरेलू उपाय: दर्द से छुटकारा पाने का आसान तरीका”

group white and black cow

सर दर्द

पेट की खराबी बदहजमी या पेट में गैस बनने से सिर दर्द हो सकता है। दर्द के कारण नींद नहीं आती तथा सिर फटता हुआ सा महसूस होने लगता है। सिर दर्द में कई बार उल्टियां भी होती है। ऐसी स्थिति में रोगी कुछ भी काम नहीं कर सकता । उसके घरेलू उपाय निम्नलिखित है:-

बेल पत्ते का रस

white and brown cow near mountain during daytime
Photo by Heiner on Pexels.com

— बेल पत्ते का रस माथे पर लगाने से सिर दर्द दूर होता है।

— चंदन को घिसकर और उसमें कपूर मिलाकर माथे पर लेख करें।

— लौकी का गुदा बारीक मसलकर माथे पर लेप करें।

— तुलसी के पत्तों के रस में जरा सी सौंठ मिलकर माथे पर लिप करें।

— हरा धनिया पीसकर माथे पर लगाने से भी आराम मिलता है।

— गैस के कारण सिर दर्द होने पर गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर पिए।

— नींबू के रस के दो बूंद कान में डालने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

देसी गाय का पुराना घी

— देसी गाय का पुराना घी हल्का गर्म करके एक-एक बूंद नाक में डालना है।

— सोंठ (पाउडर)+ गुड़ /मिश्री+नमक गर्म पानी में मिलाकर दीजिए, खराब से खराब सिर दर्द ठीक कर देता है।

— सोंठ को गर्म पानी में उबालना है। उसमें थोड़ी नमक और थोड़ा गुड़ मिलाकर पीना है। यह गिलास पानी में 1/2 चम्मच सोंठ।

— नक्स ओमिका -200 एक -एक बूंद हर दस मिनट पर तीन बार देना है।

रात में नाक बजना (खर्राटे लेना)

गाय का घी

गाय का घी थोड़ा गर्म करके एक-एक बूंद रात में सोते समय नाक में डाल दे। जल्दी आराम मिल जाएगा।

पेट की खराबी बदहजमी या पेट में गैस बनने से सिर दर्द हो सकता है। दर्द के कारण नींद नहीं आती तथा सिर फटता हुआ सा महसूस होने लगता है। सिर दर्द में कई बार उल्टियां भी होती है। ऐसी स्थिति में रोगी कुछ भी काम नहीं कर सकता । उसके घरेलू उपाय निम्नलिखित है:-

— बेल पत्ते का रस माथे पर लगाने से सिर दर्द दूर होता है।

— चंदन को घिसकर और उसमें कपूर मिलाकर माथे पर लेख करें।

— लौकी का गुदा बारीक मसलकर माथे पर लेप करें।

— तुलसी के पत्तों के रस में जरा सी सौंठ मिलकर माथे पर लिप करें।

हरा धनिया

— हरा धनिया पीसकर माथे पर लगाने से भी आराम मिलता है।

— गैस के कारण सिर दर्द होने पर गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर पिए।

— नींबू के रस के दो बूंद कान में डालने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

— देसी गाय का पुराना घी हल्का गर्म करके एक-एक बूंद नाक में डालना है।

— सोंठ (पाउडर)+ गुड़ /मिश्री+नमक गर्म पानी में मिलाकर दीजिए, खराब से खराब सिर दर्द ठीक कर देता है।

— सोंठ को गर्म पानी में उबालना है। उसमें थोड़ी नमक और थोड़ा गुड़ मिलाकर पीना है। यह गिलास पानी में 1/2 चम्मच सोंठ।

— नक्स ओमिका -200 एक -एक बूंद हर दस मिनट पर तीन बार देना है।

पेट की खराबी बदहजमी या पेट में गैस बनने से सिर दर्द हो सकता है। दर्द के कारण नींद नहीं आती तथा सिर फटता हुआ सा महसूस होने लगता है। सिर दर्द में कई बार उल्टियां भी होती है। ऐसी स्थिति में रोगी कुछ भी काम नहीं कर सकता । उसके घरेलू उपाय निम्नलिखित है:-

— बेल पत्ते का रस माथे पर लगाने से सिर दर्द दूर होता है।

— चंदन को घिसकर और उसमें कपूर मिलाकर माथे पर लेख करें।

— लौकी का गुदा बारीक मसलकर माथे पर लेप करें।

तुलसी के पत्तों के रस

— तुलसी के पत्तों के रस में जरा सी सौंठ मिलकर माथे पर लिप करें।

— हरा धनिया पीसकर माथे पर लगाने से भी आराम मिलता है।

— गैस के कारण सिर दर्द होने पर गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर पिए।

— नींबू के रस के दो बूंद कान में डालने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

— देसी गाय का पुराना घी हल्का गर्म करके एक-एक बूंद नाक में डालना है।

— सोंठ (पाउडर)+ गुड़ /मिश्री+नमक गर्म पानी में मिलाकर दीजिए, खराब से खराब सिर दर्द ठीक कर देता है

— सोंठ को गर्म पानी में उबालना है। उसमें थोड़ी नमक और थोड़ा गुड़ मिलाकर पीना है। यह गिलास पानी में 1/2 चम्मच सोंठ।

— नक्स ओमिका -200 एक -एक बूंद हर दस मिनट पर तीन बार देना है।

group white and black cow
Photo by Matthias Zomer on Pexels.com

पेट की खराबी बदहजमी या पेट में गैस बनने से सिर दर्द हो सकता है। दर्द के कारण नींद नहीं आती तथा सिर फटता हुआ सा महसूस होने लगता है। सिर दर्द में कई बार उल्टियां भी होती है। ऐसी स्थिति में रोगी कुछ भी काम नहीं कर सकता । उसके घरेलू उपाय निम्नलिखित है:-

— बेल पत्ते का रस माथे पर लगाने से सिर दर्द दूर होता है।

— चंदन को घिसकर और उसमें कपूर मिलाकर माथे पर लेख करें।

— लौकी का गुदा बारीक मसलकर माथे पर लेप करें।

— तुलसी के पत्तों के रस में जरा सी सौंठ मिलकर माथे पर लिप करें।

— हरा धनिया पीसकर माथे पर लगाने से भी आराम मिलता है।

— गैस के कारण सिर दर्द होने पर गर्म पानी में नींबू निचोड़ कर पिए।

small twig sprouting from a maple tree trunk
Photo by mali maeder on Pexels.com

नींबू के रस

— नींबू के रस के दो बूंद कान में डालने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

— देसी गाय का पुराना घी हल्का गर्म करके एक-एक बूंद नाक में डालना है।

— सोंठ (पाउडर)+ गुड़ /मिश्री+नमक गर्म पानी में मिलाकर दीजिए, खराब से खराब सिर दर्द ठीक कर देता है।

— सोंठ को गर्म पानी में उबालना है। उसमें थोड़ी नमक और थोड़ा गुड़ मिलाकर पीना है। यह गिलास पानी में 1/2 चम्मच सोंठ।

— नक्स ओमिका -200 एक -एक बूंद हर दस मिनट पर तीन बार देना है।